अभिषेक बच्चन ने पंजाबी गाना “ओ डैडी जी दे कैश उते करी जावे ऐश” पर आपत्ति जताई


Disclaimer: Articles on this website are fake and a work of fiction and not to be taken as genuine or true. इस साइट के लेख काल्पनिक हैं. इनका मकसद केवल मनोरंजन करना, व्यंग्य करना और सिस्टम पर कटाक्ष करना है नाकि किसी की मानहानि करना.
Share Button

अभिषेक बच्चन ने पंजाबी गाना “ओ डैडी जी दे कैश उते करी जावे ऐश” पर आपत्ति जताई है और सरकार को गुहार लगाई है की इस गाने को फ़ौरन बैन किया जाये. अभिषेक का कहना है की यह गाना उनको बेइज़्ज़त करने के लिए बनाया गया है और इससे उनकी मान हानि हुई है.

सुनने में आया है की अभिषेक बच्चन जल्द ही इस गाने के गायक जस्सी गिल और इसके निर्माता कंपनी को भी कोर्ट में घसीटने वाले है. इसके बाबत उन्होंने हाई कोर्ट में जनहित याचिका भी डाल दी है.

abhishek-bachchan_daddy-ji-de-cash-utte-kari-jawe-aish
“ओ डैडी जी दे कैश उते करी जावे ऐश “

Unemployed Abhishek Bachchan Objects to Punjabi Song “O Daddy Ji De Cash Utte Kari Jawe Aish”

हालाँकि यह गाना मार्किट में काफी समय से चल रहा है, तो फिर अभी अचानक ऐसा क्या हुआ की अभिषेक बच्चन ने इस पर आपत्ति जताई है. गौरतलब है, की अभिषेक बच्चन काफी समय से बेरोजगार घूम रहे हैं. जहाँ, कोई भी बॉलीवुड निर्माता अभिषेक को अपनी फिल्म में लेने को राजी नहीं है, वही उनके पिता अमिताभ बच्चन के पास फिल्मों से लेकर टीवी एड्स और टीवी प्रोग्राम्स की लाइन लगी पड़ी है. उम्र के इस पड़ाव में पहुँच कर भी, अमिताभ इतना कमा रहे हैं जिसकी शायद अभिषेक बच्चन ने कभी कल्पना भी न की हो. उधर, उनकी पत्नी ऐश्वर्या राय बच्चन के पास भी काम की कोई कमी नहीं है. ऐसे में, आखिर अभिषेक बच्चन के घर का खर्च कैसे चलता है और कौन करता है.
काफी समय से मीडिया में यह बाते उड़ती रही हैं की बेरोज़गार होने की वजह से अभिषेक बच्चन अपने और अपनी फैमिली के सभी खर्चे के लिए पूरी तरह से अपने पिता अमिताभ पर आश्रित हैं. यहाँ तक की अमिताभ अभी तक अभिषेक बच्चन को पॉकेट मनी देते आ रहे हैं.
हाल ही में, जब ऐश्वर्या राय बच्चन ने कांन्स फिल्म फेस्टिवल में शिरकत की तो उस समय वे अभिषेक को भी अपने साथ ले गयी थी. हालाँकि, अभिषेक को कांन्स की तरफ से कोई निमंत्रण नहीं दिया गया था लेकिन अपनी बच्ची आराध्या को सँभालने के बहने वे भी ऐश के साथ चेप हो गए थे.
ऐश्वर्या बच्चन ने जब कांन्स फेस्टिवल में रेड कारपेट पर अपनी अपीयरेंस दी, उस वक्त अभिषेक बच्चन भी दर्शकों में मौजूद थे. उन्ही में से किसी एक ने जस्सी गिल का यह गाना “ओ डैडी जी दे कैश उते करी जावे ऐश” गुनगुनाया. तभी, वहां मौजूद अमिताभ बच्चन के एक करीबी ने अभिषेक के कान में फुसफुसाते हुए बताया की यह गाना उनको चिढ़ाने के लिए बोल रहे हैं. इतनी देर में काफी और दर्शक भी, अभिषेक बच्चन को देखते हुए यह गाना गुनगुनाने लगे.
अब तक, अभिषेक को इस गाने के बोल का मतलब समझ आ चूका था और उन्हें लगा, हो न हो, ये गाना उन्हें चिढ़ाने और बेइज़्ज़त करने के लिए ही बोला जा रहा है.
सो, उसी समय, अभिषेक ने अपने पिता अमिताभ से कहलवाते हुए अपने पारिवारिक वकील से इस गाने के गायक और निर्माता पर हाई कोर्ट में केस डलवा दिया.
वैसे बेहतर तो यह होता की इस गाने पर आपत्ति करने की बजाय, अभिषेक बच्चन अपनी एक्टिंग में कोई सुधार लाते ताकि उन्हें यह सब न सुनना पड़ता. कम से कम कोई निर्माता, उन्हें B या C ग्रेड की ही किसी फिल्म में कोई छोटा मोटा रोले दे देता जिससे वे अपना खर्चा तो निकाल पाते. अब इतनी उम्र हो जाने के बाद और शादी और बच्चे भी हो जाने के बाद भी, आखिर अभिषेक कब तक अपने बाप के पैसों पर ऐश करेंगे.
और अगर अभी भी अभिषेक बच्चन नहीं सुधरते तो फिर तो उन्हें यह गाना “ओ डैडी जी दे कैश उते करी जावे ऐश” सुनने की आदत डाल लेनी चाहिए. 🙂

Share Button

Did you like the above post? Why Not Share Your Opinion Below.

Loading...

Add Comment