अमिताभ बच्चन होंगे देश के अगले राष्ट्रपति?


Disclaimer: Articles on this website are fake and a work of fiction and not to be taken as genuine or true. इस साइट के लेख काल्पनिक हैं. इनका मकसद केवल मनोरंजन करना, व्यंग्य करना और सिस्टम पर कटाक्ष करना है नाकि किसी की मानहानि करना.
Share Button


राष्ट्रपति पद की दौड़ में इस बार अमिताभ बच्चन का नाम भी लिया जा रहा है, लेकिन फ़ेकिंग न्यूज़ को मिली जानकारी के अनुसार, बच्चन साब ने राष्ट्रपति बनने से साफ़ इनकार कर दिया है। कल भाजपा और कांग्रेस सहित सभी दलों के एक प्रतिनधिमंडल ने उनके घर जाकर उनसे पूछा कि “क्या आप राष्ट्रपति बनने के लिए तैयार हैं? यदि हाँ, तो आपको सर्वसम्मति से राष्ट्रपति बना दिया जायेगा!” लेकिन उन्होंने इस ऑफर को ठुकरा दिया। सबसे बड़ी बात ये है कि बच्चन साब ने राष्ट्रपति ना बनने के पीछे एक अजीब कारण बताया है।
“लेकिन आप प्रेसिडेंट क्यों नहीं बनना चाहते?” -भाजपा नेत्री निर्मला सीतारमण ने पूछा। इस पर उन्होंने जवाब दिया कि “देवीजी! मेरे कंधे पर एक बहुत बड़ा बोझ है! आपको तो मालूम होगा कि मैं एक ‘सरकार’ नाम की फिल्म में काम करता हूँ, जो सिर्फ फ्लॉप होने के लिए बनाई जाती है। हर साल मुझे इस फिल्म में एक्टिंग करने की एक्टिंग करके उसे फ्लॉप करवाना पड़ता है। तीन तो करा चुका हूँ, अब चौथी का नंबर है। जब तक मैं चौथी का ‘चौथा’ नहीं करवा देता, तब तक किसी भी पद को हाथ नहीं लगाऊंगा!” -यह सुनकर सभी नेताओं का मुंह लटक गया।

“आप अपनी ही फ़िल्म के ख़िलाफ़ क्यों बोल रहे हो?” -सीताराम येचुरी ने प्लेट से बिस्किट उठाते हुए पूछा। “वो क्या हैं ना! मैं इस देश का भला चाहता हूँ। जितने कम लोग इस हादसे को देखेंगे, मुझे उतनी ही ख़ुशी होगी!” -बिग बी ने जवाब दिया।

“वो किसी और हीरो को कास्ट कर लेगा, इसमें क्या है?” -अखिलेश यादव ने कहा। “अरे क्या बात करते हैं आप! हंय! कोई दूसरा एक्टर आ के फिल्म हिट करा देगा तो रामू की बेइज्जती नहीं हो जाएगी। मैंने उनके साथ बहुत काम किया है, इसलिए मुझे मालूम है कि फ्लॉप करवाने के लिए क्या-क्या करना पड़ता है। घटिया स्टोरी, समझ में ना आने वाले गाने, सड़क छाप डायलॉग और मेरी ओवरएक्टिंग, इन सबको कुकर में डाल दो! तीन सीटी के बाद हो गयी ‘सरकार’ तैयार!” -अमिताभ ने हंय-हंय करते हुए कहा।

“इसलिए मेरी तरफ से तो ‘ना’ है! हाँ, अगर आप लोग चाहें तो अभिषेक को राष्ट्रपति बना दीजिए!” -उन्होंने हाथ जोड़ते हुए कहा, जिसे सुनकर सारे नेता बिदक गये।

“अभी तो उसे पति ही रहने दो! और फिर आपकी जैसी उसकी भी तो मजबूरी है। ‘धूम’ और ‘हाउसफुलों’ का क्या होगा!” -जदयू नेता शरद यादव ने तंज कसा। “इतना सब कुछ जानते हुए भी आप ये फिल्म साइन क्यों करते हैं?” रणदीप सिंह सुरजेवाला ने चलते-चलते पूछ लिया। इस पर बच्चन साब ने जवाब दिया कि “आप भी तो इतना सब जानते हुए कांग्रेस पार्टी में हैं!” यह सुनते ही सभी नेताओं के सब्र का बाँध टूट गया और वे बड़बड़ाते हुए उनके घर से निकल गए।

 

Source:faking news.

Share Button

Did you like the above post? Why Not Share Your Opinion Below.