Censor Board के Pahlaj Nihalani की हिदायत, “सिर्फ Silent Films ही Pass होंगी” (हास्य-व्यंग्य).

loading...

Disclaimer: Articles on this website are fake and a work of fiction and not to be taken as genuine or true. इस साइट के लेख काल्पनिक हैं. इनका मकसद केवल मनोरंजन करना, व्यंग्य करना और सिस्टम पर कटाक्ष करना है नाकि किसी की मानहानि करना.
Share Button


Censor Board Chief Pahalaj NIhalani has instructed all the film makers to focus only on making silent films so that he doesn’t have to cut the scenes or dialogues. He was speaking to media while referring to word “intercourse” controversy related to SRK Anushka starrer film “Jab Harry Met Sejal”.

पहलाज निहलानी का कंट्रोवर्सी से नाता दिया और बाती जैसा है। जब से उनकी नियुक्ती CBFC के चेयरमैन के पद पर हुई है तब से शायद ही कोई मूवी हो जिसपर कंट्रोवर्सी न हुई हो। अब तो आलम ये है कि लोग इंतज़ार करते हैं कि आने वाली मूवी में पहलाज कौनसा सीन क्या कारण देकर कटवा दें और उन्हें जोक बनाने का मौका मिले। अगर कोई मूवी बिना किसी कट के पास हो जाती है तो लोगों आश्चर्य होता है।

CBFC द्वारा शाहरुख़ खान की बहुचर्चित मूवी ”हैरी मेट सेजल” से इंटरकोर्स बीप करने को कहा गया। कुछ दिनों पहले मधुर भंडारकर की मूवी ”इंदु सरकार” से कुछ डायलॉग हटाने को कहा गया और तकरीबन 14 कट्स की मांग की है। कल अमर्त्य सेन की डॉक्यूमेंटरी ”एन आगुर्मेंटेटिव इंडियन” से सेंसर बोर्ड ने ‘गाय’ समेत चार शब्दों को डॉक्यूमेंट्री से हटाने को कहा है। लगातार ख़बरों में बने रहने से और पत्रकारों के सवालों से परेशान पहलाज निहलानी ने कल ऐसा बयान दिया की फिर बवाल खड़ा हो गया।

पहलाज ने कहा ”मेरी सभी फिल्मकारों से गुज़ारिश है मेरा जीना मुश्किल न करें, आप सभी केवल साइलेंट फ़िल्में बनाएं ताकि न मुझे उनमें सीन काटने के लिए बोलना पड़े ना ही कोई शब्द बीप करने के लिए बोलना पड़े। मैं रोज़ रोज़ के सवाल-जवाब से परेशान हो चुका हूँ। आपको भी फायदा ही होगा डायलॉग नहीं लिखवाने पड़ेंगे और पैसा भी कम खर्चा होगा।” इसके बाद से ही कई फिल्मकारों के रिएक्शन आए, एक फिल्मकार ने कहा ”हम मनमोहन जी के जीवन पर आधारित फ़िल्में बार बार नहीं बना सकते।”

Source:fakingnews.

Share Button

Did you like the above post? Why Not Share Your Opinion Below.