जाट आंदोलन और JNU – मोदी के मौन रहने की वजह से सुप्रीम कोर्ट ने दिए उनको विदेश भेजने के आदेश.


Disclaimer: Articles on this website are fake and a work of fiction and not to be taken as genuine or true. इस साइट के लेख काल्पनिक हैं. इनका मकसद केवल मनोरंजन करना, व्यंग्य करना और सिस्टम पर कटाक्ष करना है नाकि किसी की मानहानि करना.

JNU और जाट आंदोलन के कारण पूरे देश में अराजकता का माहौल बन गया है. क़ानून व्यवस्था चरमरा गयी है. लेकिन देश के बड़बोले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुप्पी के सारे रेकॉर्ड्स तोड़ दिए है. PM बनने से पहले मनमोहन सिंघ पर चुप रहने पर कटाक्ष ना करने से चूकने वाले मोदी को जाने कों सा साँप सूंघ गया है की उनकी बोलती ही बंद हो गयी है.

maun-modi-satire
Maun Modi

पूरे देश में इतनी अराजकता होने के बावजूद मोदी ने अभी तक जाट आंदोलन और JNU मुद्दों पर कुच्छ भी नही बोला है, कुछ करना तो दूर की बात है.
गौर तलब बात है की यही मोदी विदेशी में जाकर ताबड़तोड़ भाषण देने में कुत्तों को भी मात दे देते हैं. इसी बात को ध्यान में रखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने मोदी को भारी फटकार लगाई है और विदेश मंत्रलया को आदेश दिया है की मोदी को फ़ौरन विदेश भेजने की तैयारी की जाए ताकि वो अपनी चुपि तोड़ सके और कुछ बोले.

depressed-sushma-swaraj
Depressed Sushma.

विदेश मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज जो की पहले ही विदेश मंत्री होने के बावजूद विदेश ना जा पाने के कारण मोदी से नाराज़ है, अब और ज़्यादा डिप्रेशन में चली गयी हैं. विश्वस्त सूत्रों से पता चला है की वह मोदी से बदला लेने के लिए मंत्रालय को मोदी की वन वे टिकेट बुक करने के आदेश दिए हैं ताकि मोदी वापिस ही ना आ सके. यह वन वे टिकेट मोदी को अफ़ग़ानिस्तान जाने के लिए बुक की जा रही है ऐसा सुनने में आया है.

देखने वाली बात यह है की मोदी विदेश जाने के बाद जाट आंदोलन और JNU मुद्दों पर क्या ब्यान देते हैं. अब ब्यान चाहे कुच्छ भी हो, लेकिन जाट बुद्दी प्रोटेसटर्स ने देश का जो नुकसान किया है उसको कंट्रोल करने में मोदी और BJP बिल्कुल नाकाम साबित हुए हैं जिस वजह से देश वासियों में भारी रोष है. उधर यह खबर सुन के तालिबान ने अपने हतियार तेज करने शुरू कर दिए हैं और बोला है “अब आएगा ऊँट पहाड़ के नीचे”.

उधर यह सब सुनने के बाद भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिह कुच्छ इस अंदाज में दिखाई दिए.

manmohan-singhs-reaction
Manmohan Singh’s Reaction.
Loading...

Add Comment