मोदी के मन की असली बात को पढ़ सकने वाली अनोखी मशीन इज़ाद की गयी लेकिन….

loading...

Disclaimer: Articles on this website are fake and a work of fiction and not to be taken as genuine or true. इस साइट के लेख काल्पनिक हैं. इनका मकसद केवल मनोरंजन करना, व्यंग्य करना और सिस्टम पर कटाक्ष करना है नाकि किसी की मानहानि करना.
Share Button

वैज्ञानिकों की दुनिया में तब तहलका मच गया जब IIT ढोलकपुर के एक चपरासी ने दिमाग पढ़ने वाली रेडियो ट्रांज़िस्टर के साइज़ की मशीन बना दी। चपरासी PK के आमिर खान से परभावित था और इसीलिए उसने ये ट्रांज़िस्टर जैसा बनाया था। उसका कहना था की PK में तो आमिर खान ने Radio से छुपा लिया था। अब असली जिंदगी में कोई इस ट्रांज़िस्टर से अपने खयालों को नहीं छुपा पाएगा।

mind-reading-machine-modi-mann-ki-baat

आमिर खान भी यह जान कर काफी उत्साहित थे की उनसे प्रेरणा ले कर यह महान आविष्कार किया गया। हालांकि वो थोड़े डरे हुए भी थे। कहीं लोगों को पता न चल जाये की वो देश छोड़ने वाली बात सच में किरण ने कही थी या उनके दिमाग की उपज थी।

यह भी पढ़ें: व्हाट्सएप्प से ग्रसित परिवार ने नए जन्मे बच्चे को ही पड़ोसियों को फॉरवर्ड कर दिया.

आम जनता भी बहुत खुश थी जब उनको लगा की अब इस मशीन के कारण वो प्रधानमन्त्री मोदी के मन की असली बात सुन सकेंगे।

खैर सारी खुशियों पर कानून फिर गया जब मशीन के मार्केट में आने से पहले ही संसद का विशेष स्तर बुलाकर सांसदों ने सर्वसम्मति से “Brain Reading Prevention Act” पास कर दिया।

इस Act के तहत वर्तमान या भूतकाल के राजनेताओं ले ऊपर इस मशीन का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता। इसके पीछे सुरक्षा कारणों का हवाला दिया गया है।
News के बाद NDTV ने इसे प्रेस की आजादी पर बंदिश बताया है तो ज़ी न्यूज़ ने इसको देशभक्ति के लिये जरूरी बताया है। बाकी के चैनल आम जनता की तरह कन्फ्यूज़ हैं।

Media के द्वारा इस मशीन के इस्तेमाल पर पूर्ण रोक है, और आम लोग भी सार्वजनिक जगहों पर इसका इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं।

ऐसे करीब 5000 devices सभी राज्यों की पुलिस को सौंपे गए हैं। और इसकी मदद से पुलिस ने कई भावी जघन्य अपराधों को रोकने का दावा किया है।
अभी कुछ दिन पहले CISF ने सोमवार की सुबह मेट्रो में एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर को धर दबोचा। उसके मन में अपने बॉस का खून पीने की बात चल रही थी।

एक बन्दे को पुलिस ने इसलिए पकड़ लिया क्योंकि वो रेड लाइट जम्प करने की सोंच रहा था। हालांकि पुलिस उसका दिमाग पढ़ कर भी ये पता नहीं लगा पायी की उसकी वो गाड़ी कहाँ है जिससे वो ये जुर्म करने वाला था।

यह भी पढ़ें: पतंजलि ने लांच किया गौ मूत्र से चलने वाला और गाय के गोबर से बने गोला बारूद फेंकने वाला स्पेशल टैंक.

हालांकि CBI को इस मशीन से काफी फायदा मिला है।उन्होंने पिछले दिनों कई प्राचीन केस सॉल्व कर डाले। बस चार घोटाला वाले में गच्चा खा गए। सुप्रीम कोर्ट की स्पेशल अनुमति पर उन्होंने लालू यादव पर जब मशीन का प्रयोग किया तो वहां से सिर्फ भैंस को खिलाये वाले अलग अलग चारों के नाम आ रहे थे। और कुछ गालियां भी थी नीतीश कुमार और मोदी जी के लिए। हालांकि गालियां disclose नहीं की गईं।

वहीं दूसरी तरफ “Freshers Association of India” ने job interviews में इस मशीन के इस्तेमाल के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका दायर की है। हालांकि अब कई जगह ऐसे कोचिंग institute भी खुल गए हैं जो job या college interviews में दिमाग को खाली रखना सिखाते हैं।

Share Button

Did you like the above post? Why Not Share Your Opinion Below.

loading...

हमारे सभी अप्डेट्स सबसे पहले हासिल करने के लिए - हमारा फेसबुक पेज लाईक करें, और हमें ट्विटर पर फॉलो करें.और हमारा यू ट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें. और हमें इंस्टाग्राम पर फॉलो करें.

आज का Viral Video देखिये और हमारा YouTube Channel Subscribe करना ना भूले.

अगर विडियो Play ना हो या कोई Error दिखाए, तो हमारे YouTube Channel के Link पर Click कीजिये और देखिये.

Follow Us On Twitter


Like Us On Facebook

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Add Comment