अखिल भारतीय मूर्ख संगठन ने 1 अप्रैल को मोदी दिवस मनाने की की अपील.


Disclaimer: Articles on this website are fake and a work of fiction and not to be taken as genuine or true. इस साइट के लेख काल्पनिक हैं. इनका मकसद केवल मनोरंजन करना, व्यंग्य करना और सिस्टम पर कटाक्ष करना है नाकि किसी की मानहानि करना.

अब जब गूगल बाबा ने भी यह मान लिया है की प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अब तक के सबसे मूर्ख प्रधानमंत्री है, तो अखिल भारतीय मूर्ख संगठन ने (ABMS) सबसे अपील की है हर साल 1 अप्रैल को मोदी दिवस मनाया जाए.

अगर आप यह खबर पहली बार सुन रहे हैं तो एक बार गूगल पे जाकर “most stupid prime minister of india” पर सर्च करके देखिए. आप को पता लगेगा की गूगल भी यह स्वीकार कर चुका है की मोदी अब तक के सबसे ज़्यादा मूर्ख प्रधानमंत्री हैं.

modi-most-stupid-pm-of-india
गूगल ने भी अब मान लिया है की सबसे ज़्यादा मूर्ख प्रधानमंत्री मोदी ही हैं.

आप चाहे तो 1 अप्रैल को फेकू दिवस या जुमला दिवस के नाम से भी मना सकते हैं. ऐसा इसलिए क्यूंकी मोदी जबसे भारत के PM बने है तब से लेकर आजतक सिर्फ़ फेंकते आए हैं और अपने जुमलों से भारत के लोगो को बेवकूफ़ बनाते आ रहे हैं, ABMS के मुखिया ने बताया.

ABMS के प्रवक्ता ने यह भी बोला की 1 अप्रैल को हमेशा से मूर्खों के नाम रखा गया है. लेकिन मोदी ने मूर्खता के सभी रेकॉर्ड तोड़ दिए हैं तो इस दिन को मोदी दिवस के नाम से बुलाना ज़्यादा वाजिब होगा.

1-april-modi-divas
अखिल भारतीय मूर्ख संगठन की अपील 1 अप्रैल को मनाया जाए मोदी दिवस.

हालाँकि मोदी के साथ साथ कुछ और मूर्ख भी हैं जिनको यह दिन समर्पित किया जा सकता है जैसे की स्मृति ईरानी, अमित शाह और अनुपम खेर.

हमारे रिपोर्टर श्री लुंडर प्रसाद चौरसिया ने जब प्रधानमंत्री मोदी से इस विषय पर उनकी प्रतिक्रिया लेनी चाही तो मोदी बोले, “मित्रों …. मैं बचपन से ही मूर्ख रहा हूँ और हमेशा से चाहता था की मेरा नाम इस देश के बड़े बड़े मूर्खों में शामिल हो. आज जब यह दिन मेरे नाम को समर्पित किया गया है तो यह मेरे लिए बड़े गर्व की बात है. मैं वायदा करता हूँ की मैं हमेशा अपने जुमलों से इस देश के नागरिकों को मूर्ख बनता रहूँगा. भारत माता की जय.”

Loading...

Add Comment