“पाकिस्तान पर सर्जिकल स्ट्राइक सिर्फ एक जुमला, हम किसी पर हमला नहीं करते” – मोदी


Disclaimer: Articles on this website are fake and a work of fiction and not to be taken as genuine or true. इस साइट के लेख काल्पनिक हैं. इनका मकसद केवल मनोरंजन करना, व्यंग्य करना और सिस्टम पर कटाक्ष करना है नाकि किसी की मानहानि करना.
Share Button

भारत द्वारा पाकिस्तान पर सर्जिकल स्ट्राइक करके 50 से ज्यादा आतंकवादियों को मार गिरना सिर्फ एक जुमला था. हमेशा की तरह चुनावो के पहले कहे जाने वाले अनेक जुमलों में से यह एक था. गौरतलब है की, एक तो पंजाब और अन्य राज्यों के चुनाव नजदीक आ रहे है. दूसरा, भारत के लोगो की तरफ से पाकिस्तान को जवाब देने का दवाब इस नए जुमले का कारण बना.
प्रधानमंत्री मोदी ने खुद माना की भारत किसी पर ना हमला करता है और ना किया है. सर्जिकल स्ट्राइक होने के इतने दिन बीत जाने के बाद भी मोदी सरकार की तरफ से इस हमले का ना ही कोई फोटो और ना ही कोई विडियो जारी किया गया है. इस पर यूनाइटेड नेशन्स ने भी सवाल उठाये हैं की इतना बड़ा आपरेशन हुआ हो और उसका कोई निशान ना हो. मोदी सरकार ने क्लेम किया है की इस आपरेशन में पाकिस्तान के 50 से ज्यादा आतंवादियों को मार गिराया गया है लेकिन अब तक उनमे से किसी एक का भी नाम या फोटो पब्लिक को नहीं बताया गया है जो इस आपरेशन को एक जुमला ही होने का प्रमाण लगता है.

pakistan-surgical-strike-jumla-modi-united-nations
हालाँकि, यह बात साफ़ करने लायक है की इसके लिए किसी भी तरह से भारतीय फ़ौज या आर्मी या सेना को दोषी नहीं ठहराया जा सकता. क्योंकि आर्मी केंद्र सरकार के अधीन आती है. इसलिए आर्मी की तरफ से Lt जनरल रणबीर सिंह ने प्रेस कांफ्रेंस करके जो कुछ इस आपरेशन के बारे में बताया, वह केवल मोदी सरकार के दबाव के कारण हुआ नाकि आर्मी की खुद की मंशा से. इसलिए, इस बारे में भारतीय सेना के सभी और जवानों को इस सर्जिकल स्ट्राइक के मुद्दे पर अपनी जुबान बंद रखने को कहा गया है. अभी तक, सिर्फ उस प्रेस कांफ्रेंस के बाद पूरी दुनिया ने इस आपरेशन के बारे में और कोई अपडेट ना सुना और ना ही देखा यह कैसे हो सकता है की इतना बड़ा आपरेशन हुआ, और उसके बाद उसका कोई फॉलो अप नहीं और ना ही बॉर्डर की किसी भी तरफ से और किसी तरह की कार्रवाई हुई.
मीडिया की ख़बरों के ही मुताबिक पंजाब के बॉर्डर एरिया पर रहने वाले लोगो ने बताया की इस सर्जिकल स्ट्राइक आपरेशन के बाद उन्हें बॉर्डर एरिया पर ना ही भारतीय सेना की आवाजाही या और किसी प्रकार की गतिविधियां देखने को मिली जोकि संभव ही नहीं है.

Must Read: सर्जिकल स्ट्राइक से नहीं, मोदी ने इस तरह से दिया नवाज़ को जवाब.
अमूमन, इतने बड़े आपरेशन के बाद बॉर्डर पर हालात इतने तनावपूर्ण और नाजुक होते है की सेना के कितने ही दस्ते 24 घंटे वहां की पेट्रोलिंग करते और आसपास की गतिविधियों पर नज़र दिखाए देते है जोकि इस बार ऐसा कुछ भी नही हुआ.
एक और बात यहाँ बताने लायक है की सेना और अन्य सूत्रों की तरफ से भी यह स्पष्ट किया जा चूका है सर्जिकल स्ट्राइक कोई पहली बार नहीं हुई है. यह पहले भी UPA सरकार के दौरान इंडियन आर्मी की तरफ से कई बार सफलता से की जा चुकी है लेकिन तब इसको बेहद ही गुप्त तरीके से बिना मीडिया को इन्वोल्व किये यह सब किया गया जिसकी वजह देशवासिओं की भी इसकी भनक नहीं लगी. लेकिन इस बार, केंद्र में मोदी सरकार है और यह बात अब जग जाहिर है की मोदी की हर बात सिर्फ एक जुमला यानि की झूठ साबित होती है. मोदी का हर कार्यक्रम और योजना में हर कदम में मीडिया को इन्वोल्व जान बुझ कर किया जाता है ताकि मोदी के झूठ को ज्यादा से ज्यादा फैलाया जा सके और मोदी की साक देश के लोगो में एक ताकतवर प्रधानमंत्री की बने नाकि एक कायर की जोकि वे हैं.

क्या आप जानना चाहते है की मोदी ने प्रधानमंत्री बनते ही क्या क्या जुमले फेंके और किन किन बातों पे यू टर्न लिया तो यहाँ क्लिक करें.
वैसे, भी प्रोटोकॉल के मुताबिक सेना के कुछ आपरेशन ऐसे होते है जिन्हें गुप्त रूप से अंजाम दिया जाना चाहिए नाकि शोर मचा कर. इसलिए आज से पहले सेना के जितने भी आपरेशन हुए उनमे इतना शोर नहीं मचा जितना इस बार. क्योंकि, यह सब जान बुझ कर मोदी सरकार की तरफ से हर जगह, हर अख़बार, न्यूज़ चैनल और सोशल मीडिया पर फैलाया गया. बीजेपी की आईटी सेल जोकि फर्जी फोटोशॉप किये हुए फोटोस और वीडियोस में महारत हासिल कर चुकी उसने भी इसको फ़ैलाने में काफी बड़ी भूमिका अदा की.
ऊपर से सोशल मीडिया पर एक्टिव मोदी भक्तो ने इसे पैसे लेकर खबर को इतना ट्रेंड किया की यह वायरल हुई और पूरी दुनिया ने इसे देखा और सुना. लेकिन, आज तक इस सर्जिकल आपरेशन से जुडी एक भी खबर, एक भी अपडेट और एक भी पोस्ट/स्टेटस अपडेट ऐसा नहीं है जिसमे आपको इस आपरेशन से जुडी कोई भी फोटो या विडियो देखने को मिले.

यह भी जरूर देखें: सर्जिकल स्ट्राइक में क्या हुआ और मोदी भक्तों को क्या दिखा.
यह हमारे देश की लिए बहुत ही घातक बात है की इस देश की केंद्र सरकार ऐसे कामों को भी जुमलों के सहारे चलाने की कोशिश कर रही है. असल में, यह लोग किसी भी कीमत पर सत्ता को अपने हाथ से खोना नहीं चाहते इसलिए देश में सब नौटंकी हो रही है. और मजे की बात यह की इस पूरी नौटंकी में, सरकार को अपने अंध और गंवार भक्तों का पूरा साथ मिल रहा है. जब से यह आपरेशन हुआ है, सभी भक्ति मोदी मोदी का जाप करने में इतने व्यस्त हैं की किसी ने भी इस पर कोई सवाल उठाने की जरुरत ही ना समझी. अब अगर, इतनी अक्ल उनमे होती तो वे बीजेपी और मोदी को चुनने की गलती ना करते लेकिन उन कुछ बेवकूफों की गलती की कीमत पुरे देश को देनी पड़ रही है.

उधर, अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा भी, सर्जिकल स्ट्राइक के मामले को लेकर खासे नाराज़ दिखाई देते है और इस लेकर मोदी को काफी झाड़ भी लगाई है. ओबामा ने बताया की अमेरिका ने भी तो लादेन को पाकिस्तान में ही घुस कर मार था लेकिन उसका रिजल्ट पूरी दुनिया को दिखाई दिया था. और भारत को इस आपरेशन के लिए पाकिस्तान में घुसना भी नहीं पड़ा, सिर्फ भारत ने अपने ही PoK वाले एरिया में इसे अंजाम दिया तो फिर क्या कारण है की अभी तक इसकी कोई फोटो और विडियो नहीं है. इतने सारे आतंकवादी एक साथ, कुछ ही मीटर के दायरे में भारत को कैसे मिल गए, यह बात भी सवालों के घेरे में है क्योंकि आतंकवादी अमूमन एक बड़े एरिया में फेल कर अपना जाल बिछाते है नाकि एक जगह इकठे होकर.
सुनने में आया है की इस नाराज़गी लो लेकर, ओबामा ने मोदी के अमेरिका में घुसने पर पाबन्दी लगा दी है. 🙂

Share Button

Did you like the above post? Why Not Share Your Opinion Below.

Add Comment