Reliance JIO की सफलता देखते हुए पतंजलि लॉन्च करेगी ‘सबसे शुद्ध डाटा’ SIM.

loading...

Disclaimer: Articles on this website are fake and a work of fiction and not to be taken as genuine or true. इस साइट के लेख काल्पनिक हैं. इनका मकसद केवल मनोरंजन करना, व्यंग्य करना और सिस्टम पर कटाक्ष करना है नाकि किसी की मानहानि करना.
Share Button

बाबा रामदेव का नाम भला किसने नही सुना होगा। बाबा को ऑफर तो अमेरिका से भी मिला। कई कंपनियों की एक संयुक्त टीम ने गहन परीक्षण-चिंतन के बाद यह माना कि हिंदुस्तान में बाबा से बेहतर कोई सेल्समैन नही है। इस ख़बर के आने के बाद कई कंपनियां जिनकी मार्केटिंग ठीक से नहीं हो पाती थी वे बाबा को अपने कंपनियों में जुड़वाना चाहते थे।

patanjali-sim-sabse-shudh-data

सभी कंपनियों के होड़ देखते हुए वे आपस में बाबा की नीलामी का प्रस्ताव रख दिये। उड़ते-उड़ते ख़बर आई कि बाबा की नीलामी 3 लाख करोड़ से ज्यादा तक जा रही थी। लेकिन जैसे ही बाबा को पता चला की कि इनमें से अधिकतर विदेशी कंपनी हैं या फिर विदेशी चंदों से चल रहे हैं आनन फानन में बाबा ने तुरंत स्वदेशी का हवाला देते हुए डील कैंसल कराई।

बाबा ने बिजनेस हेड का पद से लेकर चीफ बिजनेस कनसल्टैंट का पद एक झटके में ठुकरा दिया। बाबा ये ऑफर खुशी खुशी स्वीकार कर लेते यद्दपि कंपनिया स्वदेशी, संस्कारी और शुद्ध होती। बाबा ने पहले ही कहा था कि वे किसी भी सूरत में अपने स्वदेशी सिद्धांतों से समझौता नहीं करेंगे।

खैर यह सब तो पुरानी बात है और हम सब जानते हैं कि बाबा रामदेव कितने बड़े संन्यासी हैं, वे मानवता के कल्याण में दिन भर लगे रहते हैं, वे सबकी सोचते हैं,सभी लोग के निरोग के बारे में सोंचते रहते हैं इसलिए वह इतनी बड़ी मात्रा में प्रोडक्ट निर्माण करते है ताकि हर हिन्दुस्तानी के घर में कम से कम बाबा का एक प्रॉडक्ट मौजूद हो। इसके लिए उन्हें केंद्र सरकार से गठजोड़ भी करना पड़ा।

कहा जाता है कि शुरू में वो योग से ही हिन्दुस्तान को निरोग करने में लगे थे। लेकिन हिन्दुस्तानियों के आलसीपन को देखते हुए उन्हें एक विकल्प की तलाश थी जिससे की हिन्दुस्तानी निरोग रहे। वैसे भी योग में काफी समय लग जाता है और लोग इतनी व्यस्त दिनचर्या में वक्त कहां से लाये। उन्होंने पाया की सारी समस्याओं का जड़ ये कारोबारी हैं जो मिलावटी सामान बेंचते हैं। बस क्या था निकल गए कारोबार करने।

ऐसे निकले कि उन्हें खुद अन्य कारोबारियों की तरह  कब्ज, एसिडिटी, ब्लडप्रेशर, हाइपर टेंशन और न जाने कैसी-कैसी आधुनिक बीमारियों के शिकार हो गए। यह अलग बात है कि वे अन्य कारोबारियों को योग सीखा निरोग कर खुद कारोबार करने लगे।

जैसाकि बाबा रामदेव खुद बड़े संयासी है, वह अपनी कहां सोंचते है। वे तो लोगों की सेवा के  लिए बने है। हमने पहले भी देखा है कि मैगी पर बैन लग जाने के बाद, बच्चों की चिंता में पतंजलि का आटा नूडल लॉन्च कर दिया।

धीरे-धीरे वह मार्केट के बड़ा हिस्सा अपने नाम करने लग गए। जब बारी लड़कियों की आई तो वह एक से बढ़कर एक क्रीम लॉन्च करने लगे। पहले से ही पचास पार किये हुए नवजवान के चहेते थे अब बीस पार युवाओं के चहेता बनना चाहते थे। इसके लिए उन्होंने मार्केट में पहले से ही कई तरह की स्कीमें और प्रोडक्ट लॉन्च किये थे।

परन्तु किसी में सफलता नही मिली थी। युवाओं के बीच Reliance JIO की सफलता को देखते हुए उन्होंने इंटरनेट डाटा की प्रतिस्पर्धा में ‘पतंजलि सबसे शुद्ध डाटा’ नामक सिम लॉन्च करने का फैसला किया है ताकि बीस पार युवा जुड़ सके।

सबसे शुद्ध डाटा सिम की खासियत यह होगी की इसमें डाटा का कोई भी पैसा नहीं लिया जायेगा. आप जितना चाहे उतना डाटा इस्तेमाल करें. लेकिन, पतंजलि की सिद्धान्तों के हिसाब से आपको सिर्फ शुद्ध डाटा यूसेज पालिसी का पालन करना होगा. यानि की पतंजलि की इस सिम से आप किसी भी किस्म का विदेशी पोर्न इत्यादि नहीं देख पाएंगे.
वैसे देखा जाये, तो आपको जरुरत भी क्या है किसी भी विदेश पोर्न साइट देखने की जबकि बाबा रामदेव के खुद का स्वदेशी पोर्न फकंजलि के नाम से शुरू कर चुके है. तो सबसे शुद्ध डाटा के यूज़र्स फकंजलि पर जितना मर्जी पोर्न देखें, उसका कोई चार्ज नहीं लगेगा. 🙂

 

Share Button

Did you like the above post? Why Not Share Your Opinion Below.

Add Comment