Smriti Irani ने Hindi-English भाषा पर लगाया बैन (ban), सिर्फ Sanskrit का इस्तेमाल करना होगा.

loading...

Disclaimer: Articles on this website are fake and a work of fiction and not to be taken as genuine or true. इस साइट के लेख काल्पनिक हैं. इनका मकसद केवल मनोरंजन करना, व्यंग्य करना और सिस्टम पर कटाक्ष करना है नाकि किसी की मानहानि करना.
Share Button

देश भक्त और देश द्रोही में फर्क करने के लिए मौजूदा सरकार और उनकी शिक्षा मंत्री Smriti Irani ने एक और नायाब तरीका खोज निकाला है. जी नहीं, इसका सम्बन्ध किसी भी तरह से शिक्षा से नहीं है. हो भी कैसे सकता है. जो लोग खुद अनपढ़ और गंवार हो वो भला कैसे शिक्षा के बारे में बात कर सकते हैं, तो क्या अगर वो देश का प्रधानमंत्री बन गए हैं या फिर शिक्षा मंत्री.
तो जनाब, वह तरीका है Sanskrit भाषा. आयो हज़ूर तुमको सितारों में ले ..ओह्ह मतलब संस्कृत में ले चलें.
देश की शिक्षा मंत्री स्मृति ईरानी ने IIT में संस्कृत भाषा को पढ़ाने के लिए बोला है. जो इंसान खुद 12th पास भी न हो, और जिसके दिमाग में भूसे के सिवा और कुछ ना हो, अब उसको IIT के बारे में क्या पता. तो बस मन में आया तो बोल दिया Smriti Irani ने की IIT में संस्कृत पढ़ाई जाये. स्मृति ईरानी शायद अभी तक सास बहु के मोड से बहार नहीं आयी हैं. उस तुच्छ बुद्धि का दिमाग बस इतना ही चल सकता है तो यह देश जाये भाड़ में. इसलिए तो पहले IIT की फीस में कई गुना बढ़ोतरी कर दी और उसके बाद यह संस्कृत का फतवा. मैडम शायद चाहती हैं की इस देश के सभी IIT में ताला लग जाये और आइन्दा कोई भी IIT में एडमिशन लेने की जुर्रत न कर सके.

smriti-irani-sanskrit-funny
देश की भूसा मंत्री संस्कृत में गाली देते हुए.

खैर, अब IIT के बाद, सुनने में आ रहा है की स्मृति ईरानी जल्द ही Hindi और English भाषा पर पूर्ण बैन (ban) लगाना चाहती है. और यह चाहती है की इस देश में अगर कोई भाषा इस्तेमाल हो वह हो सिर्फ संस्कृत.
यानि की सरकारी विभागों से लेकर प्राइवेट कंपनियों तक, सिर्फ और सिर्फ संस्कृत ही हो. यहाँ तक की, सॉफ्टवेयर इंजीनियर भी सिर्फ संस्कृत भाषा में ही कोडिंग करें नकि C , C ++, Java में.
सूत्रों के अनुसार यह नया फतवा जारी होने के बाद अगर कोई भी Sanskrit के इलावा कोई और भाषा का उपयोग करता पाया गया (स्पेशली इंग्लिश) तो उसको पकड़ कर अंदर बंद कर दिया जायेगा.
बहुत जल्द ही आपको अपने चारो और सिर्फ संस्कृत के ही श्लोक पढने और सुनने को मिलेंगे. रोड पर लगने वाले साइन बोर्ड भी संस्कृत में ही नज़र आएंगे. सोचिये, आप टीवी खोलेंगे और आपको सुनने को मिलेगी सिर्फ संस्कृत. टीवी सीरियल, मूवीज, टीवी एड्स, और यहाँ तक की क्रिकेट कमेंटरी भी सिर्फ और सिर्फ संस्कृत में ही होगी.
पब्लिक ट्रांसपोर्ट जैसे की बस और मेट्रो इत्यादि में भी सिर्फ संस्कृत भाषा के बोर्ड लगाए जायेंगे. तो अगर आपको संस्कृत की A B C भी नहीं आती तो देर ना करें और जल्द सीखें, नहीं तो आपको देश द्रोही मान कर जेल के अंदर डाल दिया जाये.
ख़बरदार अगर घर में भी अपने माँ बाप और बच्चों आदि से संस्कृत के इलावा किसी और भाषा में बात की तो. हमारे खासम खास रिपोर्टर ने यह भी खबर दी है की जल्द ही सरकार Sanskrit भाषा का इस्तेमाल न करने वालों पर बड़ा जुरमाना भी लगाने पर विचार कर रही है. अब मोदी के अंतहीन विदेशी दौरों का खर्चा भी तो निकालना है.

Share Button

Did you like the above post? Why Not Share Your Opinion Below.

2 thoughts on “Smriti Irani ने Hindi-English भाषा पर लगाया बैन (ban), सिर्फ Sanskrit का इस्तेमाल करना होगा.

  1. Madam ji aap to bahut acche se bol rhe h ki only sanskrit language use kre. Chaliye hm aapke baat maan lete.jb hmm other country jyenge to waha hmm Sanskrit language use nhi krege to aap hme to india country se nikal denge kya.itna ashaan nhi ki aap jo bolo hmmm wahi kre.india freedom county h maidam ji.aap bs desh politics m wahi accha. Kya krna h hmme pr chor de

    1. MindTheNews Network

      Reply

      उम्मीद करते हैं, मैडम आपकी बात सुन लें. वैसे उम्मीद कम ही है. इसलिए निराश मत होना दोस्त. 😉

Add Comment