“हिंदी तो गरीबो और गंवारो की भाषा, सुषमा का भाषण हिंदी में क्यों, Nation Wants to Know” – Arnab Goswami.


Disclaimer: Articles on this website are fake and a work of fiction and not to be taken as genuine or true. इस साइट के लेख काल्पनिक हैं. इनका मकसद केवल मनोरंजन करना, व्यंग्य करना और सिस्टम पर कटाक्ष करना है नाकि किसी की मानहानि करना.

सुनने में आया है की टाइम्स नाउ (Times Now) के अर्नब गोस्वामी सुषमा स्वराज से काफी नाराज़ है. कारण, सुषमा का United Nations में इंग्लिश की जगह हिंदी में भाषण देना.
अर्नब ने कहा है की हिंदी तो गरीबों की और मिडिल कैटल क्लास (Cattle class) लोगो की भाषा है. इसलिए सुषमा स्वराज ने हिंदी में भाषण देकर देश की नाक कटवा दी. वह भी तब जब की पाकिस्तान जैसे अनपढ़ देश के प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ ने अपना भाषण इंग्लिश में दिया, जबकि उन्हें मालूम था की 90 % से ज्यादा पाकिस्तान को उनका भाषण समझ में नहीं आएगा. फिर भी विदेशों में अपनी साख बनाने के लिए, नवाज़ ने अपना भाषण अंग्रेजी में दिया (चाहे रट्टा मार के ही दिया हो).

Must Read: Funny Reactions to Nawaz Sharif’s Speech at United Nations.

sushma-swaraj-un-speech-hindi-arnab
सूत्रों के मुताबिक, अर्नब ने सुषमा स्वराज को अपने टीवी डिबेट प्रोग्राम न्यूज़ ऑवर (News Hour) में सुषमा स्वराज को कभी भी ना बुलाने के निर्णय किया है. कहा है, कहीं वहां भी सुषमा हिंदी पर उतर आयी तो उनकी और उनके प्रोग्राम की TRP गिर जाएगी.

क्या आप जानते है की UNESCO ने अर्नब गोस्वामी द्वारा मोदी के लिए गए इंटरव्यू को बेस्ट इंटरव्यू डिक्लेअर किया था.
अर्नब ने अब अपना निशाना सीधे प्रधानमंत्री मोदी पर साध कर पूछा है की आखिर सुषमा स्वराज ने अपना भाषण इंग्लिश की जगह हिंदी में क्यों दिया, नेशन वांट्स टू नो (Nation Wants to Know). 🙂

Loading...

Add Comment