उरी के बाद आतंकी हमलों की हैट ट्रिक करवाने वाले मोदी देश के पहले प्रधानमंत्री – UNESCO


Disclaimer: Articles on this website are fake and a work of fiction and not to be taken as genuine or true. इस साइट के लेख काल्पनिक हैं. इनका मकसद केवल मनोरंजन करना, व्यंग्य करना और सिस्टम पर कटाक्ष करना है नाकि किसी की मानहानि करना.

जैसा की आप जानते ही है, की किस तरह से UNESCO एक बाद एक मोदी जी के नए नए रिकॉर्ड डिक्लेअर करके मोदी के भक्तों को कृतार्थ कर रहा है (वैसे यह सब कौन डिक्लेअर कर रहा है और फैला रहा है, वह तो मोदी भक्त खुद जानते ही हैं).
तो अब देश में एक और बहुत ही शर्मनाक आतंकी हमला कश्मीर के उरी में हुआ जिसमे भारत के 17 जवान शहीद हो गए. अफ़सोस, इस बार फिर उनमे से एक भी मोदी भक्त नहीं था. यानि की अपने आका मोदी की तरह बेशर्म भक्तों की जनसँख्या में अभी भी कोई कटौती नहीं हुई.
तो खैर, हम बात कर रहे थे यूनेस्को द्वारा मोदी के किये नए नए ख़िताब को डिक्लेअर करने की. जैसे की पहले यूनेस्को मोदी जी को दुनिया का सबसे बढ़िया प्रधानमंत्री घोषित कर चूका है. 🙂

uri-terror-attack-modi-satire
आप को जान कर आश्चर्य शायद नहीं होगा की गुरदासपुर, पठानकोट और अब उरी में आतंकी हमलों की हैट ट्रिक करवाने वाले नरेंद्र मोदी देश के पहले प्रधानमंत्री बन गए हैं. भक्तों, हम नहीं न कह रहे यह तो यूनेस्को कह रहा है. नहीं यकीन तो पूछ लो यूनेस्को वालो से.
पाकिस्तान एक के बाद एक आतंकी हमले भारत पर करवा रहा है और हमारे देश का 56 इंच की छाती वाला चौंकीदार गहरी नींद में सो रहा है. ऊपर सा इतनी बेशर्मी की वह पाकिस्तान के राष्ट्रपति नवाज़ शरीफ को जन्मदिन की बधाई देना नहीं भूलता.
वैसे जन्मदिन से याद आया, मोदी जी का भी जन्मदिन भी तो अभी परसों 17 सितंबर को ही था. ओह हो, तो कहीं यह आतंकी हमला, नवाज़ शरीफ की तरफ से मोदी जी को जन्मदिन की बधाई देने का ही कोई अनोखा तरीका तो नहीं था. यह तो मोदी जी भली भांति जानते होंगे.
मोदी जी, एक और हमला हो गया तो अब फटाफट कड़ी निंदा और पाकिस्तान के साथ क्रिकेट न खेलने का एलान करके अपना प्रधान सेवक होने की

औपचारिकता पूरा कर दो. मरे हुए सैनिकों का क्या है, वो तो पैदा ही मरने के लिए होते हैं. अब तो आप गिनती भी भूल चुके होंगे की आपके प्रधानमंत्री 
बनने से लेकर आज तक पाकिस्तान ने कितने भारतीय सैनिको को शहीद किया.

वो, आप प्रधानमंत्री बनने से पहले कुछ सर वर काटने की बात करते थे. ओह हो हम भी कितने भुलक्कड़ है, वह तो सिर्फ एक जुमला ही था जैसे की बाकि जुमले थे.
तो मोदी जी आप अपनी जुमलो की पारी खेलते रहिये और 2019 का इंतज़ार कीजिये. इंशाअल्लाह तब तक आप जीवित रहे, तो इस जनता का जवाब आपको मिल जायेगा.

वैसे, मोदी जैसे डरपोक इंसान से अच्छा और बहादुर तो यह सेना का जवान है जिसने कम से कम अपने शब्दों से पाकिस्तान को एक चेतावनी तो दी. मोदी जी तो यह भी कर पाने में असमर्थ हैं. देखिये यह नीचे वाला विडियो, आप खुद ही समझ जायेंगे.

Loading...

Add Comment